Gulab Shayari in Hindi (Love Gulab Shayari)

Gulab Shayari, Gulab Shayari in Hindi, Love Gulab Shayari, Love Gulab Shayari in Hindi, Best Gulab Shayari, Best Gulab Shayari in hindi

Gulab Shayari अक्सर लोग प्यार का इजहार करने के लिए गुलाब का सहारा लेते हैं। क्योंकि गुलाब ही वो फुल है जो सभी प्रेमियों को सबसे ज्यादा पसंद आता हैं।

Gulab Shayari में गुलाब को प्यार के इजहार का नाम दिया गया है। गुलाब महबूबा के जैसा होता है। गुलाब खुद बिख़र जाता है पर दो दिलों को एक कर देता है।

मैं चाहता था कि उस को गुलाब पेश करूँ
वो ख़ुद गुलाब था उस को गुलाब क्या देता…!!

फूल गुलाब का भेज रहे है आपके लिए,
लबों से छूकर जान इसमें डाल दीजिए…!!

Gulab Shayari, Gulab Shayari in Hindi, Love Gulab Shayari, Love Gulab Shayari in Hindi, Best Gulab Shayari, Best Gulab Shayari in hindi
Gulab-Shayari

काँटों से घिरा रहता है,
फिर भी गुलाब खिला रहता है…!!

भरी बहार में इक शाख़ पर खिला है गुलाब
कि जैसे तू ने हथेली पे गाल रक्खा है…!!

तेरे बगैर किसी और को देखा नही मैंने,
सूख गया तेरा गुलाब मगर फेका नहीं मैंने…!!

Gulab Shayari, Gulab Shayari in Hindi, Love Gulab Shayari, Love Gulab Shayari in Hindi, Best Gulab Shayari, Best Gulab Shayari in hindi
Gulab-Shayari

दिन में आने लगे हैं ख़्वाब मुझे
उस ने भेजा है इक गुलाब मुझे…!!

सूरत तुम्हारी फूल सी किसी बाग़ की,
नाजुक से होठ जैसे पंखुड़ी गुलाब की…!!

गुलाब गुलाब होता है उसे रोज ना कहो
दोस्त दोस्त होता है उसे दुश्मन ना कहो…!!

Gulab Shayari, Gulab Shayari in Hindi, Love Gulab Shayari, Love Gulab Shayari in Hindi, Best Gulab Shayari, Best Gulab Shayari in hindi
Gulab-Shayari

फूलो मैं वे बात कहाँ है,
महक है जो बन्द कली मैं …!!

ख़ामोश बैठी गजल को अल्फाज़ दे आया,
आज एक गुलाब को गुलाब दे आया…!!

लोगो के दामन अब नम दिखाई देते हैं,
फूल अब गुलाबों के कम दिखाई देते हैं…!!

Gulab Shayari, Gulab Shayari in Hindi, Love Gulab Shayari, Love Gulab Shayari in Hindi, Best Gulab Shayari, Best Gulab Shayari in hindi
Gulab-Shayari

मोहब्बत गुलाब से हो जाए,
तो काटों से नफ़रत क्या…!!

हम गये थे ले कर जिस के लिए गुलाब,
वो ख़ुद ही गुलाब बन के आई थी जनाब…!!

काँटों में गुलाब की तरह खिलना है जिन्दगी,
गैरों से भी अपनों की तरह मिलना है जिन्दगी…!!

Gulab Shayari, Gulab Shayari in Hindi, Love Gulab Shayari, Love Gulab Shayari in Hindi, Best Gulab Shayari, Best Gulab Shayari in hindi
Gulab-Shayari

बचपन में देखी हसीन ख्वाब सी हो,
सच कहूँ तो तुम बिल्कुल गुलाब सी हो…!!

किसी ने मुझ से कह दिया था ज़िंदगी पे ग़ौर कर
मैं शाख़ पर खिला हुआ गुलाब देखता रहा…!!

उनकी जुल्फों की खूबसूरती और बढ़ गई,
जब एक गुलाब उनके बालो में सज गई…!!

Gulab Shayari, Gulab Shayari in Hindi, Love Gulab Shayari, Love Gulab Shayari in Hindi, Best Gulab Shayari, Best Gulab Shayari in hindi
Gulab-Shayari

जिन्दगी कुछ यूँ उलझ कर रह गई,
जैसे काँटों के बीच उलझे हो गुलाब…!!

टूटे हुए इंसान की आँखों से निकलता है आब,
हसीन कितना भी हो बिखर जाता है गुलाब…!!

ना जाने कितनों के दिल टूटे है इन्तजार में,
ना जाने कितने गुलाब सूखे है किताब में…!!

Gulab Shayari, Gulab Shayari in Hindi, Love Gulab Shayari, Love Gulab Shayari in Hindi, Best Gulab Shayari, Best Gulab Shayari in hindi
Gulab-Shayari

लग गई बद्दुआ हमें उन गुलाबों की,
जिनका कत्ल हमने तुम्हारी खातिर किया था…!!

गुलाब से पखुड़ियाँ अलग होने लगी है,
लगता है प्यार में की हुई गलतियाँ अब सुधरने लगी है…!!

गुलाब से पूछो कि दर्द क्या होता है,
देता है पैगाम मोहब्बत का और खुद काँटों में रहता है…!!

Gulab Shayari, Gulab Shayari in Hindi, Love Gulab Shayari, Love Gulab Shayari in Hindi, Best Gulab Shayari, Best Gulab Shayari in hindi
Gulab-Shayari

काटें तो आने ही थे हमारे नसीब में,
हमने यार भी तो गुलाब जैसा चुना था…!!

ये खूबसूरत प्यारा सा गुलाब मैंने उन्हें दे दिया,
जिन्होंने बिना सोचे मोहब्बत से भरा दिल मुझे दे दिया…!!

क्या मैं आपकी तारीफ़ करूँ अल्फाज़ नही मिलते,
हुजूर आप वो गुलाब है जो शाख पर नही खिलते…!!

Gulab Shayari, Gulab Shayari in Hindi, Love Gulab Shayari, Love Gulab Shayari in Hindi, Best Gulab Shayari, Best Gulab Shayari in hindi
Gulab-Shayari

खुशबू में डूब जायेंगी यादों की डालियाँ
होंठों पे फूल रख के कभी सोचना मुझे…!!

मेरी जिन्दगी गुलाब की तरह खिल जाती,
अगर मोहब्बत के बदले मोहब्बत मिल जाती…!!

किसी ने क्या खूब कहा है सिर्फ,
गुलाब देने से अगर मोहब्बत हो जाती,
तो माली सारे शहर का महबूब बन जाता…!!

Gulab Shayari, Gulab Shayari in Hindi, Love Gulab Shayari, Love Gulab Shayari in Hindi, Best Gulab Shayari, Best Gulab Shayari in hindi
Gulab-Shayari

गुलाब सी खिली मुस्कान है तेरी,
तुझे प्यार करना आदत है मेरी…!!

एक रोज उनके लिए,
जो मिलते नही रोज़-रोज़,
मगर याद आते है हर रोज़…!!

बड़े ही चुपके से भेजा था,
मेरे महबूब ने मुझे एक गुलाब,
कम्बख्त उसकी खुशबू ने,
सारे शहर में हंगामा कर दिया…!!

Gulab Shayari, Gulab Shayari in Hindi, Love Gulab Shayari, Love Gulab Shayari in Hindi, Best Gulab Shayari, Best Gulab Shayari in hindi
Gulab-Shayari

हर गुलाब की किस्मत में नही होता,
किसी किताब में घर मिलना…!!

गुलाब की भीनी खुशबू से,
महका मानो हर नजारा है,
आपकी चाहत, आपका साथ,
आने वाले कल का सहारा है…!!

दिल की किताब में गुलाब उनका था,
रात की नींद में ख्वाब उनका था,
कितना प्यार करते हो जब हमने पूछा
मर जायेंगे तुम्हारे बिना ये जवाब उनका था…!!

Gulab Shayari, Gulab Shayari in Hindi, Love Gulab Shayari, Love Gulab Shayari in Hindi, Best Gulab Shayari, Best Gulab Shayari in hindi
Gulab-Shayari

पैर में लगे कांटे ने बताया कि
इस गली में जरूर कोई गुलाब है…!!

सफर वहीं तक है जहाँ तक तुम हो,
नजर वहीं तक है जहाँ तक तुम हो,
हजारों फूल देखे है इस गुलशन में मगर
खुशबू वहीं तक है जहाँ तक तुम हो…!!

गिन गिन के लाये गुलाब हम प्यारे,
जैसे तारों में कुछ खूबसूरत तारे,
तुम इन्हें रखना संभाल के सनम,
यही भरे है प्यार से हमारे…!!

Gulab Shayari, Gulab Shayari in Hindi, Love Gulab Shayari, Love Gulab Shayari in Hindi, Best Gulab Shayari, Best Gulab Shayari in hindi
Gulab-Shayari

मेरी बेचैनियों का कुछ यूँ हिसाब रखना,
कि हर हिचकी पर तुम इक गुलाब रखना…!!

मोहब्बत भरी नज़रों में ख़्वाब मिलेंगे,
कहीं कांटे तो कहीं गुलाब मिलेंगे,
मेरे दिल की किताब को पढ़ के तो देखो,
कहीँ आपकी याद तो कहीं खुद आप मिलोगे…!!

तुझे पल भर को भी भूल जाने की,
कोशिश कभी कामयाब न हुई,
तेरी याद शाख-ऐ-गुलाब थी,
जो हवा चली तो महक उठी…!!

Gulab Shayari, Gulab Shayari in Hindi, Love Gulab Shayari, Love Gulab Shayari in Hindi, Best Gulab Shayari, Best Gulab Shayari in hindi
Gulab-Shayari

गुलाब पर ये जुल्म क्यों ढाते है लोग,
इश्क़ के इजहार के लिए तोड़ लाते है लोग…!!

ये सिर्फ एक गुलाब नही,
मेरी प्यार की निशानी है,
रखना इसे आप संभाल के,
इस के हर पत्ते में छुपी,
हमारे प्यार की कहानी है…!!

प्यार का तोहफा कुछ इस तरह दिया उसने,
एक गुलाब में सब कुछ कह दिया उसने,
उसका ये हुनर हम भी आजमाएंगे,
देकर लम्हें प्यार के हम भी इश्क जताएंगे…!!

Gulab Shayari, Gulab Shayari in Hindi, Love Gulab Shayari, Love Gulab Shayari in Hindi, Best Gulab Shayari, Best Gulab Shayari in hindi
Gulab-Shayari

इंसान गुलाब को कब डालियों में छोड़ते है,
मोहब्बत का वास्ता देकर बड़े अदब से तोड़ते है…!!

लफ्जों की तरह तुझे किताबों में मिलेंगे,
बनके महक तुझे गुलाबों में मिलेंगे,
खुद को कभी अकेला न समझना
हर पल हम तेरे दिल में या तेरे ख्वाबो में मिलेंगे…!!

चेहरा आपका खिला रहे गुलाब की तरह,
नाम आपका रोशन रहे आफताब की तरह,
गम में भी आप हँसते रहे फूलों की तरह,
अगर हम इस दुनिया में न रहे आज की तरह…!!

Gulab Shayari, Gulab Shayari in Hindi, Love Gulab Shayari, Love Gulab Shayari in Hindi, Best Gulab Shayari, Best Gulab Shayari in hindi
Gulab-Shayari

सूखे गुलाब तो बस बंद किताबों में मिलेंगे,
बड़े ख्वाब हमेशा ही खुली आँखों में मिलेंगे…!!

आपके होठो पर सदा खिलता गुलाब रहे,
खुदा ना करे आप कभी उदास रहें,
हम आपके पास चाहे रहे ना रहें,
आप जिन्हें चाहे वोह सदा आपके पास रहे…!!

गुलाब खिलते रहे ज़िंदगी की राह में,
हँसी चमकती रहे आप कि निगाह में,
खुशी कि लहर मिलें हर कदम पर आपको,
देता हे ये दिल दुआ बार–बार आपको…!!

Gulab Shayari, Gulab Shayari in Hindi, Love Gulab Shayari, Love Gulab Shayari in Hindi, Best Gulab Shayari, Best Gulab Shayari in hindi
Gulab-Shayari

सिर्फ़ गुलाब देने से अगर मोहब्बत हो जाती,
तो माली सार शहर का महबूब बना जाता…!!

मेरी दीवानगी की कोई हद नहीं,
तेरी सूरत के सिवा मुझे कुछ याद नहीं,
मैं गुलाब हूँ तेरे गुलशन का,
तेरे सिवाए मुझ पर किसी का हक़ नहीं…!!

आप मिलते नही Roz Roz,
आपकी याद आती है हर Roz,
हमने भेजा है Red Roz,
जो आपको हमारी याद दिलायेगा हर Roz…!!

Gulab Shayari, Gulab Shayari in Hindi, Love Gulab Shayari, Love Gulab Shayari in Hindi, Best Gulab Shayari, Best Gulab Shayari in hindi
Gulab-Shayari

हकीकत में सच हो ऐसा इक ख्वाब चाहिए,
इक गुलाब के हाथों से गुलाब चाहिए…!!

सालों बाद न जाने क्या समा होगा,
हम सब दोस्तों में से न जाने कौन कहाँ होगा,
फिर मिलना हुआ तो मिलेंगे ख्बाबों में,
जैसे सूखे गुलाब मिलते हैं किताबों में…!!

पगली तूँ गुलाब के फूल जैसी है…
जिसे में तोड़ भी नही सकता,
और छोड़ भी नही सकता…!!

Gulab Shayari, Gulab Shayari in Hindi, Love Gulab Shayari, Love Gulab Shayari in Hindi, Best Gulab Shayari, Best Gulab Shayari in hindi
Gulab-Shayari

गुलाब जैसी हो, गुलाब लगती हो,
हल्का सा जो मुस्कुरा दो, तो लाजवाब लगती हो…!!

प्यार के समुन्दर में सब डूबना चाहते हैं,
प्यार में कुछ खोते हैं तो कुछ पाते हैं,
प्यार तो एक गुलाब है जिसे सब तोडना चाहते हैं,
पर हम तो इस गुलाब को चूमना चाहते हैं…!!

चला जा SMS गुलाब बन के,
होगी सच्ची दोस्ती तो आएगा जवाब,
अगर ना आये तो मत होना उदास,
बस समझ लेना की मेरे लिए,
वक्त नही था उनके पास…!!

Gulab Shayari, Gulab Shayari in Hindi, Love Gulab Shayari, Love Gulab Shayari in Hindi, Best Gulab Shayari, Best Gulab Shayari in hindi
Gulab-Shayari

किताब में सूखे गुलाबों की भी एक कहानी है,
किसी का बड़े प्यार से दिया हुआ निशानी है…!!

पत्ती , पत्ती गुलाब बन जाती,
हर कली मेरा ख्वाब बन जाती,
अगर आप डाल देती अपनी महकदा नज़रे इन पर,
तो सुबह की ओस भी शराब बन जाती…!!

एक दिल मेरे दिल को ज़ख़्म दे गया,
ज़िन्दगी भर जीने की कसम दे गया,
लाखों फूलो में से एक गुलाब चुना हमने,
जो काँटों से भी गहरी चुभन दे गया…!!

आज सोचा के आपको जवाब में क्या दूँ,
आप जैसे लोगो को खिताब क्या दूँ,
कोई और फूल हो तो मुझ को नहीं मालूम,
जो खुद ग़ुलाब हो उसे क्या ग़ुलाब क्या दूँ…!!

गुलाब की तरह काटों में रहना सीखों,
कमल की तरह कीचड़ में खिलना सीखो,
मदहोशी में होश तो संभाल लेते है कई लोग,
पर जिन्दा रहकर फरिश्तों की तरह रहना सीखो…!!

दोस्तों Gulab Shayari जैसी नई-नई पोस्ट पाने के लिए हमारी इस Site SHAYARIBABA.COM को Bookmark जरूर करें। और Like और शेयर करना ना भूलें।