Dillagi Shayari in Hindi (New Dillagi Shayari)

Dillagi Shayari, Dillagi Shayari in Hindi, New Dillagi Shayari, New Dillagi Shayari in Hindi, Jbardast Dilagi Shayari, Jbardast Dilagi Shayari in Hindi, best Dillagi Shayari, best Dillagi Shayari in Hindi

Dillagi Shayari में आज के ज़माने में मोहब्बत कौन करता है सभी दिल्लगी ही तो करते हैं। इसी दिल्लगी को जताने के लिए हम Dillagi Shayari लेकर आये हैं।

जहां वफ़ा नहीं जीत सकी,
थोड़ी बेवफाई ही आज़मा ले…!!

हर रोज़ गिर कर भी मुकम्मल खड़े हैं,
ऐ-ज़िन्दगी देख मेरे होंसले तुझसे भी बड़े हैं…!!

इश्क हारा है तो दिल थाम के क्यों बैठे हो,
तुम तो हर बात पे कहते थे कोई बात नहीं…!!

सुकून और इश्क दोनों एक साथ,
रहने दो ग़ालिब कोई अक्ल की बात करो…!!

Dillagi Shayari, Dillagi Shayari in Hindi, New Dillagi Shayari, New Dillagi Shayari in Hindi, Jbardast Dilagi Shayari, Jbardast Dilagi Shayari in Hindi, best Dillagi Shayari, best Dillagi Shayari in Hindi
Dillagi-Shayari

पानी दरिया में हो या आँखों में,
गहराई और राज़ दोनों में होते हैं…!!

तुम्हारे बाद जो होगी वो दिल्लगी होगी,
मोहब्बत वो थी जो तुम पे तमाम कर बैठे …!!

कुछ यूँ हुवा हाल दिल्लगी में चोट खाकर,
वफाए फितरत में रह गई और मोहब्बत से वास्ता न रहा..!!

एक सवाल छोड़ गए आज भी वो मेरे जहन में…
कि ये रिश्ता मोहब्बत का था या सिर्फ़ दिल्लगी…!!

मिले वो यार जो दिल की लगा कर,
हमें बहला रहे हैं दिल्लगी से…!!

Dillagi Shayari, Dillagi Shayari in Hindi, New Dillagi Shayari, New Dillagi Shayari in Hindi, Jbardast Dilagi Shayari, Jbardast Dilagi Shayari in Hindi, best Dillagi Shayari, best Dillagi Shayari in Hindi
Dillagi-Shayari

नज़रों का क्या कसूर, जो दिल्लगी तुमसे हो गयी,
तुम हो ही इतने प्यारे, कि मोहब्बत तुमसे हो गयी…!!

मज़ा आ रहा है दिलबर से दिल्लगी में,
नज़रे भी हमी पे है और पर्दा भी हमी से है…!!

दिल तोडना किसी का ये जिदंगी नही
इबादत थी मेरी कोई दिल्लगी नही…!!

दिल्लगी ही दिल्लगी में दिल गया,
दिल लगाने का नतीजा मिल गया…!!

कुछ पाबंदी भी लाज़मी है दिल्लगी के लिए..
किसी से इश्क़ अगर हो तो बेपनाह न हो…!!

Dillagi Shayari, Dillagi Shayari in Hindi, New Dillagi Shayari, New Dillagi Shayari in Hindi, Jbardast Dilagi Shayari, Jbardast Dilagi Shayari in Hindi, best Dillagi Shayari, best Dillagi Shayari in Hindi
Dillagi-Shayari

तलब तमनाएँ सब अधूरी रह जाती है,
अक्सर दिल जिसे चाहता है उससे दुरी रहा जाती है…!!

क़लम उठाते हैं, काग़ज़ से दिल्लगी करते हैं,
लफ़्ज़ों के शहर में एक पाक मोहब्बत करते हैं…!!

मौत से पहले हमें तो दिल्लगी ने मारा है,
ऩूर के दीवाने है कुसूर नज़रों का सारा है…!!

माना दोस्त, कि दिल्लगी तेरी फ़ितरत नहीं
फ़िर वाबस्तगी मुझसे, क्यों तेरी हसरत नहीं…!!

अच्छी नहीं होती है गरीबों से दिल्लगी,
टूटा कहीं जो दिल तो बनाया न जायेगा…!!

Dillagi Shayari, Dillagi Shayari in Hindi, New Dillagi Shayari, New Dillagi Shayari in Hindi, Jbardast Dilagi Shayari, Jbardast Dilagi Shayari in Hindi, best Dillagi Shayari, best Dillagi Shayari in Hindi
Dillagi-Shayari

चाहत है या दिल्लगी या यूँ ही मन भरमाया है,
याद करोगे तुम भी कभी किस से दिल लगाया है…!!

तेरे ख़त में इश्क की गवाही आज भी है,
हर्फ़ धुंधले हो गए हैं मगर स्याही आज भी है…!!

बेहतर तो है यही के न दुनिया से दिल लगे,
पर क्या करें जो काम न बे-दिल्लगी चले…!!

हमने भी बहुत दिल लगा कर देख लिया है,
चलो थोड़ी दिल्लगी भी कर ले…!!

बे-ज़ार हो चुके हैं बहुत दिल्लगी से हम,
बस हो तो उम्र भर न मिलें अब किसी से हम…!!

Dillagi Shayari, Dillagi Shayari in Hindi, New Dillagi Shayari, New Dillagi Shayari in Hindi, Jbardast Dilagi Shayari, Jbardast Dilagi Shayari in Hindi, best Dillagi Shayari, best Dillagi Shayari in Hindi
Dillagi-Shayari

हर किसी को उतनी ही जगह दो दिल में,
जितनी वो आपको देता है,
वरना या तो वो खुद रोयेगा, या फिर आपको रुलाएगा…!!

हमने तो बिना सोचे ही उनसे दिल्लगी कर ली,
गर सोच के करते तो कभी मुहब्बत ना होती …!!

बढ़ा के प्यास मेरी उस ने हाथ छोड़ दिया,
वो कर रहा था मुहब्बत भी दिल्लगी की तरह…!!

मोहोब्बत एक बार ही होती है,
तुम ने जो की वो दिल्लगी है जो बार बार होती है…!!

दिल्लगी करते सभी हैं, दिल लगाते हैं नहीं..
दर्दे-दिल की है दवा क्या, ये बताते हैं नहीं…!!

Dillagi Shayari, Dillagi Shayari in Hindi, New Dillagi Shayari, New Dillagi Shayari in Hindi, Jbardast Dilagi Shayari, Jbardast Dilagi Shayari in Hindi, best Dillagi Shayari, best Dillagi Shayari in Hindi
Dillagi-Shayari

मोहब्बत दिल मे कुछ ऐसी होनी चाहिए कि,
वह हासिल भले ही दूसरे को हो पर,
कमी उस को जिंदगी भर हमारी होनी चाहिए…!!

वोह तेरी होश ओ हवस मे बेरुखी अच्छी ना थी,
या फिर तेरी मुख़्तसर सी दिल्लगी अच्छी ना थी…!!

मुख्तसर सी दिल्लगी से तो तेरी बेरुखी अच्छी थी
कम से कम ज़िंदा तो थे एक कस्मकस के साथ…!!

मोहब्बत मिलती है सभी को जिंदगी में कहीं कहीं
दिल भी टूटते है काँच की तरह दिल्लगी में कहीं कहीं…!!

इश्कवाले हैं हम भी जज्बातों की कदर जानते हैं,
नहीं करते हैं दिल्लगी किसी से दीवानों की कदर जानते हैं…!!

Dillagi Shayari, Dillagi Shayari in Hindi, New Dillagi Shayari, New Dillagi Shayari in Hindi, Jbardast Dilagi Shayari, Jbardast Dilagi Shayari in Hindi, best Dillagi Shayari, best Dillagi Shayari in Hindi
Dillagi-Shayari

कुछ नशा तो आपकी बात का है,
कुछ नशा तो धीमी बरसात का है,
हमें आप यूँ ही शराबी ना कहिए,
यह नशा तो पहली मुलाकात का है…!!

दिल की इस लगी को न दिल्लगी समझिए,
मौत का सामान है इश्क इसको न जिंदगी समझिए…!!

क़यामत का तो सोना था कोई किसी का ना होगा,
मगर अब तो दुनिया में भी ये रिवाज़ आम हो गया है…!!

कही तुम भी ना बन जाना मजबून किसी किताब का,
लोग बड़े शौक से पड़ते है कहानियाँ बेवफाओ की…!!

मेरी जात एक ऐसा फूल हुई जिससे खुशबु तो सब ने चाहा,
मगर पानी देने का ख्याल किसी को ना आया…!!

Dillagi Shayari, Dillagi Shayari in Hindi, New Dillagi Shayari, New Dillagi Shayari in Hindi, Jbardast Dilagi Shayari, Jbardast Dilagi Shayari in Hindi, best Dillagi Shayari, best Dillagi Shayari in Hindi
Dillagi-Shayari

ये मज़ा था दिल्लगी का कि बराबर आग लगती,
न तुम्हें क़रार होता न हमें क़रार होता…!!

आईना जब उठाया करो पहले देखा करो,
फिर दिखाया करो…!!

अब तो मुझको लोग तेरे नाम से पहचानते हैं,
दिल्लगी में रुतबा हमने भी पाया है…!!

नसीम-ए-सुबह गुलशन में गुलों से खेलती होगी,
किसी की आखरी हिचकी किसी की दिल्लगी होगी…!!

तीर पे तीर खाए जा और यार से लौ लगाये जा,
आह न कर , लबों को सी..इश्क़ है दिल्लगी नहीं…!!

Dillagi Shayari, Dillagi Shayari in Hindi, New Dillagi Shayari, New Dillagi Shayari in Hindi, Jbardast Dilagi Shayari, Jbardast Dilagi Shayari in Hindi, best Dillagi Shayari, best Dillagi Shayari in Hindi
Dillagi-Shayari

बेहतर तो है यही के न दुनिया से दिल लगे,
पर क्या करें जो काम न बे-दिल्लगी चले…!!

दिल्लगी कर जिंदगी से, दिल लगा के चल,
जिंदगी है थोड़ी, हमेशा मुस्कुराते चल…!!

ना तोल मेरी मोहब्बत को अपनी दिल्लगी से,
देख कर मेरी चाहत को अक्सर तराजू भी टूट जाते हैं…!!

हमारी कद्र उनको होगी तन्हाईयो में एक दिन,
अभी तो बहुत लोग हैं उनके पास दिल्लगी करने को…!!

तुझे हक दिया है मैंने, मेरे साथ दिल्लगी का,
मेरे दिल से खेल जब तक तेरा दिल बहल ना जाए…!!

Dillagi Shayari, Dillagi Shayari in Hindi, New Dillagi Shayari, New Dillagi Shayari in Hindi, Jbardast Dilagi Shayari, Jbardast Dilagi Shayari in Hindi, best Dillagi Shayari, best Dillagi Shayari in Hindi
Dillagi-Shayari

अब लगा भी दिल तब दिल्लगी होगी,
हम उस पे अपनी मुह्ब्बत तमाम कर आऐ…!!

कोई दिल की ख़ुशी के लिए तो कोई दिल्लगी के लिए,
हर कोई प्यार ढूंढ़ता है यहाँ अपनी तनहा सी ज़िन्दगी के लिए…!!

चाहत का दिल में नामो-निशाँ ना रहे,
या तो ख़त्म हो कशमकश तेरी,

या मेरी दिल्लगी का आशियाँ ना रहे…!!

तुम्हारी दिल्लगी देखो, हमारे दिल पर भारी है,
तुम तो चल दिए हंसकर, यहाँ बरसात जारी है…!!

तुझे महोब्बत कहा थी बस दिल्लगी थी,
वरना मेरे पल भर का बिछड़ना भी,
तेरे लिए क़यामत होता…!!

Dillagi Shayari, Dillagi Shayari in Hindi, New Dillagi Shayari, New Dillagi Shayari in Hindi, Jbardast Dilagi Shayari, Jbardast Dilagi Shayari in Hindi, best Dillagi Shayari, best Dillagi Shayari in Hindi
Dillagi-Shayari

तुझे महोब्बत कहा थी बस दिल्लगी थी,
वरना मेरे पल भर का बिछड़ना भी,
तेरे लिए क़यामत होता…!!

हमारी कद्र उनको होगी तन्हाईयो में एक दिन
अभी तो बहुत लोग हैं उनके पास दिल्लगी करने को…!!

कुछ यूँ हुआ हाल दिल्लगी में चोट खाकर,
वफाए फितरत में रह गई और मोहब्बत से वास्ता न रहा…!!

सब्र एक ऐसी सवारी है जो अपने सवार को,
कभी गिरने नहीं देती ना किसी के कदमों में,
और ना ही किसी की नजरों में…!!

किसी इंसान की खूबी देखो तो इसे बयाँ करो,
लेकिन अगर खामी मिल जाये तो,
वहाँ तुम्हारी खूबी का इम्तेहान है…!!

Dillagi Shayari, Dillagi Shayari in Hindi, New Dillagi Shayari, New Dillagi Shayari in Hindi, Jbardast Dilagi Shayari, Jbardast Dilagi Shayari in Hindi, best Dillagi Shayari, best Dillagi Shayari in Hindi
Dillagi-Shayari

धड़कनें बढ़ा गई उसकी जरा सी दिल्लगी,
खुदा करे उसका मजाक ही सच हो जाए …!!

टूटे हुए दिल ने भी उसके लिए दुआ मांगी,
न जाने कैसी दिल्लगी थी उस बेवफा से,
मैंने आखिरी ख्वाहिश में भी उसकी वफ़ा मांगी…!!

उनके ग़ेसूओं के साये में जिसनें जान दी,
ख़ुदकुशी का मज़ा उनसे पूछिए,
उनको बता कर हाल-ए-दिल हंसा दिया,
एैसे दिल्लगी का मज़ा उनसे पूछिए…!!

दूरियां बढ जाए या फासले हो दरमियान,
धडकन थम जाए चाहे होठ हो बेजबान,
दिल्लगी रहेगी सदां इश्क़ रहेगा नौजवान,
दुनिया की किसे फिक्र जब तूँ है मेहरबान…!!

वो नहीं आती पर निशानी भेज देती है,
खुवाबों में दास्ताँ पुरानी भेज देती है,
कितने मीठे है उसकी यादों के मंजर,
कभी कभी आँखों में पानी भेज देती है…!!

Dillagi Shayari में दिल्लगी से रिलेटेड और भी Status और शायरी हमारी इस Site SHAYRIBABA.COM में मिलेगी। जैसे Dhoka Shayari, Gulab Shayari, Emotional Shayari, जिन्हें आप अपने दोस्तों के साथ शेयर भी कर सकतें हैं।