Dhoka Shayari in Hindi (Dhoka Fareb Shayari)

Dhoka Shayari, Dhoka Shayari in Hindi, Dhoka Fareb Shayari, Dhoka Fareb Shayari in Hindi, Bewafa Shayari, Bewafa Shayari in Hindi

Dhoka Shayari आजकल प्यार में Dhoka देना आम बात हो गई है। आप सभी के दर्द को कम करने और दिल को सुकून देने वाली Dhoka Shayari Collection लेकर आये हैं।

Dhoka Shayari सच्चा प्यार किस्मत वालों को मिलता है। कुछ लोग प्यार को भगवन समझतें हैं और कुछ लोग प्यार को Dhoka समझतें हैं। जब प्यार में दिल टूटता है तो हर तरफ Dhoka ही नजर आता है। आज कल हर लड़का या लड़की दिल से नहीं जिस्म से प्यार करतें हैं। इस लिए अक्सर प्यार में Dhoka मिलता है।

धोखा खा कर भी हम जिन्दा हैं,
तेरे दर्द के साथ भी हम जिन्दा हैं…!!

धोखा तूने ऐसा दिया मेरी जिंदगी का,
हर मकसद मुझसे छीन लिया…!!

दिल के दर्द को दिखाना बड़ा मुश्किल है,
धोखा खा कर बताना बड़ा मुश्किल है…!!

सुनी सुनाई बात पर भरोसा ना था,
धोखा खाने पर सारी बाते समझ आ गयी…!!

Dhoka Shayari, Dhoka Shayari in Hindi, Dhoka Fareb Shayari, Dhoka Fareb Shayari in Hindi, Bewafa Shayari, Bewafa Shayari in Hindi
Dhoka-Shayari

इन्सान कम थे क्या जो,
अब मोसम भी धोखा देने लग…!!

मेरे प्यार को ठुकरा कर तूने अच्छा किया,
मेरी चाहत को भुला कर तूने अच्छा किया…!!

बिछड़ कर भी बिछड़ा नहीं हूँ तुमसे,
अब तो तभी बिछड़ पाउगा जब साँसे बिछ्ड़ेगी हमसे…!!

मेरा दिल तोडा मगर दिल के उन्ही टुकडो में,
आज भी वो धोकेबाज़ बसा है…!!

Dhoka Shayari, Dhoka Shayari in Hindi, Dhoka Fareb Shayari, Dhoka Fareb Shayari in Hindi, Bewafa Shayari, Bewafa Shayari in Hindi
Dhoka-Shayari

गलती तेरी नहीं की तूने मुझे धोखा दिया,
गलती मेरी थी जो मैंने तुझे मौका दिया…!!

वो तो अपने प्यार का प्रसाद सबको बांट रहे थे,
हम ही अनजाने में सारा प्रसाद अपना समझ बैठे…!!

प्यार करते-करते एकदम गायब हो जाना,
भी एक हुनर है…!!

इज़हार करने से पहले अपना मुह मोड़ते,
तो शायद इतना दर्द ना होता जितना अब हो रहा है…!!

Dhoka Shayari, Dhoka Shayari in Hindi, Dhoka Fareb Shayari, Dhoka Fareb Shayari in Hindi, Bewafa Shayari, Bewafa Shayari in Hindi
Dhoka-Shayari

खाए है लाखो धोखे एक धोखा और सह लेंगे,
तूँ लेजा अपनी डोली को,
हम अपनी अर्थी को बारात कह लेंगे…!!

तेरे हर झूठ पे यकीन मैंने किया,
तो तूने तो बाद मे पहले मैंने ही खुद को धोखा दिया…!!

अपनों की फितरत में ही है धोखा देना,
क्योंकि गैरों से मिले धोखे का तो दर्द भी नहीं होता…!!

तुमसे प्यार तो ना मिला ये धोखा ही निशानी है,
बरसों गुज़र गए पर अधूरी हमारी कहानी है…!!

तुम्हे अपना बनाने का आज भी हम हुनर रखते हैं,
पर ये नहीं पता कि तुम हमारा बनने की,
कितनी नीयत रखते हो…!!

Dhoka Shayari, Dhoka Shayari in Hindi, Dhoka Fareb Shayari, Dhoka Fareb Shayari in Hindi, Bewafa Shayari, Bewafa Shayari in Hindi
Dhoka-Shayari

मैं उसका सबसे पसंदीदा खिलौना हूँ दोस्तों,
वो रोज़ जोड़ती है मुझे फिर से तोड़ने के लिए…!!

तूँ भी सादा है कभी चाल बदलता ही नहीं,
हम भी सादा हैं इसी चाल में आ जाते हैं…!!

जो उन मासूम आँखों ने दिए थे,
वो धोके आज तक मैं खा रहा हूँ…!!

आदमी जान के खाता है मोहब्बत में फ़रेब,
ख़ुद-फ़रेबी ही मोहब्बत का सिला हो जैसे…!!

जीवन जीने का मन नहीं करता, सांस लेने का मन नहीं करता,
तुमसे धोखा खाने के बाद, कुछ खाने का मन नहीं करता…!!

Dhoka Shayari, Dhoka Shayari in Hindi, Dhoka Fareb Shayari, Dhoka Fareb Shayari in Hindi, Bewafa Shayari, Bewafa Shayari in Hindi
Dhoka-Shayari

जो जले थे हमारे लिऐ बुझ रहे हैं वो सारे दिये,
कुछ अंधेरों की थी साजिशें कुछ उजालों ने धोखे दिये…!!

ज़ख़्म लगा कर उस का भी कुछ हाथ खुला,
मैं भी धोका खा कर कुछ चालाक हुआ…!!

इक सफ़र में कोई दो बार नहीं लुट सकता,
अब दोबारा तेरी चाहत नहीं की जा सकती…!!

तेरे वादों पे कहाँ तक मेरा दिल फ़रेब खाए,
कोई ऐसा कर बहाना मेरी आस टूट जाए…!!

Dhoka Shayari, Dhoka Shayari in Hindi, Dhoka Fareb Shayari, Dhoka Fareb Shayari in Hindi, Bewafa Shayari, Bewafa Shayari in Hindi
Dhoka-Shayari

हालात ने तोड़ दिया हमें कच्चे धागे की तरह,
वरना हमारे वादे भी कभी ज़ंजीर हुआ करते थे…!!

मेरे बाद वफ़ा का धोका और किसी से मत करना,
गाली देगी दुनिया तुझ को सर मेरा झुक जाएगा…!!

किस ने वफ़ा के नाम पे धोका दिया मुझे,
किस से कहूँ कि मेरा गुनहगार कौन है…!!

समझा लिया फ़रेब से मुझ को तो आप ने,
दिल से तो पूछ लीजिए क्यों बेक़रार है…!!

Dhoka Shayari, Dhoka Shayari in Hindi, Dhoka Fareb Shayari, Dhoka Fareb Shayari in Hindi, Bewafa Shayari, Bewafa Shayari in Hindi
Dhoka-Shayari

धोखा देती है शरीफ चेहरों की चमक,
अक्सर हर कांच का टूकड़ा हीरा नहीं होता…!!

जिन की ख़ातिर शहर भी छोड़ा, जिन के लिए बदनाम हुए,
आज वही हम से बेगाने-बेगाने से रहते हैं…!!

अक्सर ऐसा भी मोहब्बत में हुआ करता है,
कि समझ-बूझ के खा जाता है धोका कोई…!!

दिखाई देता है जो कुछ कहीं वो ख़्वाब न हो,
जो सुन रही हूँ वो धोका न हो समाअत का…!!

Dhoka Shayari, Dhoka Shayari in Hindi, Dhoka Fareb Shayari, Dhoka Fareb Shayari in Hindi, Bewafa Shayari, Bewafa Shayari in Hindi
Dhoka-Shayari

देखा है जिदंगी में हमने ये आज़मा के,
देते है यार धोख़ा दिल के करीब ला के…!!

धोका था निगाहों का मगर ख़ूब था धोका,
मुझ को तेरी नज़रों में मोहब्बत नज़र आई…!!

पहले उन्होंने हमारा दिल चुराया,
फिर उस दिल से अपना दिल लगाया,
थोडा बहुत खेलकर हमारे दिल से,
फिर तोड़ने के लिए जोरो से गिराया…!!

धोखा देकर ऐसे चले गए, जैसे कभी जानते ही नहीं थे,
अब ऐसे नफरत जताते हो, जैसे प्यार को मानते ही नहीं थे…!!

Dhoka Shayari, Dhoka Shayari in Hindi, Dhoka Fareb Shayari, Dhoka Fareb Shayari in Hindi, Bewafa Shayari, Bewafa Shayari in Hindi
Dhoka-Shayari

दिल तो पहली बार ही टूट गया था..
बाद में तो इसने जिद कर ली थी धोखा खाने की…!!

प्यार के बदले मुझे धोखा मिला,
फिर भी नहीं तुमसे कोई गिला,
बस दुआ है जिससे तुम प्यार करो,
वो तुम्हे कभी ना दे रुला…!!

धोका मिला मुझे तो मै जीना सिख गया,
आज अपनी आँखे खोल कर मै चलना सिख गया…!!

आपकी आँखे अक्सर वही लोग खोलते हैं,
जिनपर आप आँखे बंद करके विश्वाश करते हैं…!!

Dhoka Shayari, Dhoka Shayari in Hindi, Dhoka Fareb Shayari, Dhoka Fareb Shayari in Hindi, Bewafa Shayari, Bewafa Shayari in Hindi
Dhoka-Shayari

मुझ पर हक तुमने उस दिन खो दिया था,
जिस दिन तुमने मुझे धोखा दिया था…!!

इश्क में इसलिए भी धोखा खानें लगें हैं लोग,
दिल की जगह जिस्म को चाहनें लगे हैं लोग…!!

मैंने खाया है चिरागों से इस कदर धोखा,
मै जल रहा हूँ सालों से मगर रौशनी नहीं होती…!!

कुछ लोग इतने गरीब होते हैं की,
देने के लिए कुछ नहीं होता तो धोखा दे देते हैं…!!

Dhoka Shayari, Dhoka Shayari in Hindi, Dhoka Fareb Shayari, Dhoka Fareb Shayari in Hindi, Bewafa Shayari, Bewafa Shayari in Hindi
Dhoka-Shayari

तुमने प्यार ना सही पर तुम्हारे धोखे ने,
मुझे बहुत हिम्मत दी है…!!

तकलीफ ये नही की किस्मत ने मुझे धोखा दिया,
मेरा यकीन तुम पर था किस्मत पर नही…!!

कौन है इस जहाँ मे जिसे धोखा नहीं मिला,
शायद वही है ईमानदार जिसे मौक़ा नहीं मिला…!!

जब दो टूटे हुए दिल मिलते है,
तब मोहब्बत में धोखा नहीं होता…!!

Dhoka Shayari, Dhoka Shayari in Hindi, Dhoka Fareb Shayari, Dhoka Fareb Shayari in Hindi, Bewafa Shayari, Bewafa Shayari in Hindi
Dhoka-Shayari

दीवानगी का सितम तो देखो कि,
धोखा मिलने के बाद भी
चाहते हैं हम उनको…!!

किसी की मजबूरी का मजाक ना बनाओ यारों,
ज़िन्दगी कभी मौका देती है तो कभी धोखा भी देती है…!!

धोखा तो हर किसी को मिलना चाहिए,
जीवन में एक बार वरना कुछ अधूरा सा लगता है…!!

हैसीयत ही नहीं थी हमारी तुम्हे चाहने की,
तभी तो कोशिश नहीं की, तुमने वापिस लौट आने की…!!

साथ रहना था ही नहीं तो, तुमने हमसे नाता क्यों जोड़ा,
हमे धोका देकर तुमने हमे, कही का नहीं छोड़ा…!!

न तुमको कोई ऐसा मौका देते, की तुम धोका देते,
अच्छा होता बेड़ियों से बाँध कर, अपने गिरफ्त में रखते…!!

जानता था की वो धोखा देगी एक दिन,
पर चुप रहा क्योंकि उसके धोखे में जी सकता हूँ,
पर उसके बिना नहीं.!

क्यों बहाने करते ho मुझसे रूठ जाने के,
साफ़ साफ़ कह देते दिल में जग नहीं है हमारे लिए…!!

Dhoka Shayari हमारी इस Website SHAYARIBAA.COM में Dhoka Shayari से related और भी Shayari status हैं जिन्हे आप अपने चाहने वालों और दोस्तों के साथ शेयर कर सकतें हैं।